फिल्म “सांड की आँख” इस शुक्रवार को देगी सिनेमाघरों में दस्तक

0
183

शार्पशूटर प्रकाशी तोमर और चंद्रो तोमर के सच्ची घटना पर आधारित “सांड की आँख” फिल्म इस शुक्रवार को सिनेमाघरों में दस्तक दे रही है। प्रकाशी तोमर का किरदार निभा रही है तापसी पन्नू तो वहीं चंद्रो तोमर का किरदार निभा रही है भूमि पेडनेकर। फिल्म में प्रकाशी तोमर और चंद्रो तोमर के संघर्ष की कहानी बताई हुई है कि कैसे उन्होंने अपने परिवार और समाज का सामना किया और लड़कियों को मान सम्मान दिलाया।

फिल्म की कहानी बाजपत के जोहरी गाँव की है जिसमें प्रकाशी तोमर और चंद्रो तोमर के संघर्ष की कहानी है कि कैसे उनकी शादी एक ही परिवार में होती है और उन्हें घर का सारा काम करना पड़ता है। घर के मुख्या है रतन सिंह जिनका किरदार निभाया है प्रकाश झा ने। रतन सिंह परिवार में सबसे बड़े भाई होते हैं जिनकी बात कोई नहीं टालता है। फिर एक दिन डॉक्टर यशपाल(विनीत कुमार सिंह) कि एंट्री होती है जिसमें वह गाँव कि बेहतरी करने के लिए शूटिंग रेंज खोलते हैं और जिसके बाद वह सरपंच के पास बच्चों को दाखिला देने के लिए प्रोत्साहन करते हैं लेकिन सरपंच लड़कियों को भेजने से मना कर देते हैं। लेकिन अपनी पोतियों का सुनहरा भविष्य बनाने के लिए प्रकाशी तोमर और चंद्रो तोमर अपनी पोतियों को छुपते छिपाते शूटिंग रेंज में ले जाते हैं। अपनी पोतियों को हौसला देने के लिए प्रकाशी और चंद्रो दोनों हाथों में बन्दूक उठा लेती हैं और एक दम सटीक निशाना लगा देती है। उसके बाद कहानी बहुत से मोड़ लेती है जिसमें परिवार को पता चल जाता है कि प्रकाशी और चंद्रो अपनी पतियों को शूटिंग सीखा रही है। उसके बाद कहानी में बहुत से उतार चढ़ाव देखने को मिलते हैं। आगे कहानी में क्या होता हैं, क्या चंद्रो और प्रकाशी अपनी पोतियों को निशानेबाज़ी में मुकाब हासिल करवा पाते हैं या नहीं यह देखने के लिए आपको 25 अक्टूबर 2019 को फिल्म देखने जाना पड़ेगा।

फिल्म में एक्टिंग की बात करें तो तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर ने अच्छी एक्टिंग की है और प्रकाश झा ने भी हरयाणी व्यक्ति का अच्छा किरदार निभाया है। तुषार हीरानंदानी का निर्देशन भी काबिलेतारीफ है। AVZ न्यूज़ के मूवी रिव्यु में फिल्म सांड की आँख को मिलते हैं 5 में से 4 स्टार।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here